Featured

सीता का संदेश देना

समस्त वृतान्त सुनने के पश्चात् सुग्रीव सभी…

Read More »
लंका दहन

 राक्षसों की भीड़ भयभीत होकर भाग गई।…

Read More »
रावण के दरबार में

हनुमान रावण के भव्य दरबार को विश्लेषणात्मक…

Read More »
मेधनाद हनुमान युद्ध

जम्बुवाली के वध का समाचार पाकर निशाचरराज…

Read More »
हनुमान राक्षस युद्ध

सीता से विदा ले कर जब हनुमान…

Read More »
हनुमान का विशाल रूप

वानरश्रेष्ठ हनुमान के मुख से यह अद्भुत…

Read More »
हनुमान का सीता को धैर्य बँधाना

पति के हाथ को सुशोभित करने वाली…

Read More »
हनुमान का सीता को मुद्रिका देना

सीता के वचन सुनकर वानरशिरोमणि हनुमान जी…

Read More »
हनुमान सीता भेंट

 पराक्रमी हनुमान जी विचार करने लगे कि…

Read More »
जानकी राक्षसी घेरे में

 राक्षसराज रावण के चले जाने के बार…

Read More »
रावण -सीता संवाद 2

सीता के ये कठोर वचन सुनकर राक्षसराज…

Read More »
रावण -सीता संवाद

इस प्रकार फूले हुए वृक्षों से सुशोभित…

Read More »
हनुमान जी अशोकवाटिका में

हनुमान जी सीता की खोज के अपने…

Read More »
लंका में सीता की खोज

इस प्रकार से सुग्रीव का हित करने…

Read More »
हनुमान जी का लंका में प्रवेश

 चार सौ योजन अलंघनीय समुद्र को लाँघ…

Read More »
हनुमान का सागर पार करना

बड़े बड़े गजराजों से भरे हुए महेन्द्र…

Read More »
जाम्बवन्त द्वारा हनुमान को प्रेरणा

 वानरों के समक्ष भयंकर महासागर विशाल लहरों…

Read More »
तपस्विनी स्वयंप्रभा

वह गुफा अत्यन्त ही अन्धकारमय थी किन्तु…

Read More »
हनुमान को मुद्रिका देना

 वानर यूथपतियों को इस प्रकार की कठोर…

Read More »
सीता की खोज

लक्ष्मण से प्रेरणा पाकर सुग्रीव ने अपने…

Read More »
लक्ष्मण-सुग्रीव संवाद

श्री रामचन्द्र जी की आज्ञा पाकर, सदैव…

Read More »
हनुमान-सुग्रीव संवाद

 पवनकुमार हनुमान शास्त्र-विद्, नीतिज्ञ और सूझबूझ वाले…

Read More »
सुग्रीव का अभिषेक

वालि के अन्तिम संस्कार से निवृत हो…

Read More »
तारा का विलाप

जब तारा को वालि की मृत्यु का…

Read More »
वालि-राम संवाद

वालि को पृथ्वी पर गिरते देख राम…

Read More »
वालि-वध

 तदन्तर वे सब लोग वालि की राजधानी…

Read More »
राम-सुग्रीव वार्तालाप

 राम ने सुग्रीव से कहा, हे सुग्रीव!…

Read More »
राम-सुग्रीव मैत्री

 हनुमान अपने साथ राम और लक्ष्मण को…

Read More »
राम हनुमान भेंट

 कमल, उत्पल तथा मत्स्यों से परिपूर्ण पम्पा…

Read More »
शबरी का आश्रम

 तदन्तर दोनों भाई कबन्ध के बताये अनुसार…

Read More »